[ad_1]

Har Funn Maula Lyrics in Hindi

हादसों के इस शहर में
आज कोई आयेगा
खोल देगा राज़ या फ़िर
राज़ खुद बन जायेगा

रात की आग़ोश में ये
राज़ रहने दीजिए
कीजियेगा कल ख़ुलासा
आज रहने दीजिए

है कोई परवाना यहां
जो जान पे अपनी खेलेगा
आशिक़ी में होके फ़ना
बाहों में शमां को ले लेगा

कितनी हसीनों पे कितनी दफ़ा ये डोला
फ़िर भी फ़कीरों का पहने हुए है चोला

इतर की शीशी ये जहां भी खुल जाए
हवा में घुल जाए
दिल जोगी दा हर फन मौला

(संगीत)

आये तो कई करने इधर
दिल-ए-बेकरार की दवा
शब से शहर होते ही मगर
बारी बारी सारे हो गए हवा

शब के अंधेरे में जन्नत दिखाने वाला
मैं तो सवेरे भी दिल ना दुखाने वाला

के मेरी बाहों में रात जो गुज़रे वो
उम्र भर जैसी है
दिल जोगी दा हर फन मौला

हर फन मौला

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here