एक हसीना थी EK HASINA THI LYRICS IN HINDI | KARZZZZ

[ad_1]

Ek Hasina Thi Ek Diwana Tha Lyrics in Hindi
Advertisement

आज इस मुबारक मौके पर
मैं आप लोगो को मेरी और कामिनी की
दास्तान सुनाना चाहता हूँ
मोहब्बत की दास्तान

एक हसीना थी, एक दीवाना था
क्या उम्र, क्या समा
क्या ज़माना था

हे हे हे हे हे हे हे हे हे
ला ला ला ला ला ला ला

एक हसीना थी, एक दीवाना था
क्या उम्र, क्या समा
क्या ज़माना था

(संगीत)

एक दिन वो मिले, रोज़ मिलने लगे
एक दिन वो मिले, रोज़ मिलने लगे
फिर मोहब्बत हुयी, बस क़यामत हुयी

सुनके ये दास्ताँ, खो गए तुम कहाँ
लोग हैरान है, क्योंकि अनजान है
इश्क की वो गली, बात जिसकी चली

उस गली में, मेरा आना जाना था
एक हसीना थी, एक दीवाना था
क्या उम्र, क्या समा
क्या ज़माना था
एक हसीना थी, एक दीवाना था

(संगीत)

उस हसीं ने कहा, सुनो जान-ए-वफ़ा
उस हसीं ने कहा, सुनो जान-ए-वफ़ा
ये फलक, ये ज़मीं, तेरे बिन कुछ नहीं
तुझपे मरती हूँ मैं, प्यार करती हूँ मैं
तेरे बिन जिंदगी कुछ नहीं कुछ नहीं

आशिकी में उनका आलम क्या सुहाना था
एक हसीना थी, एक दीवाना था
क्या उम्र, क्या समा
क्या ज़माना था
एक हसीना थी, एक दीवाना था

(संगीत)

बेवफा यार ने, अपने महबूब से
ऐसा धोखा किया, ऐसा धोखा किया
ऐसा धोखा किया
ज़हर उसको दिया, ज़हर उसको दिया
ज़हर उसको दिया

मर गया वो जवाँ, मर गया वो जवाँ
अब सुनो दास्ताँ

जन्म लेके कहीं, फिर वो पहुंचा वहीं
शक्ल अनजान थी, अक्ल हैरान थी
सामना जब हुआ, फिर वही सब हुआ
सामना जब हुआ, फिर वही सब हुआ
उसपे ये क़र्ज़ था, उसका ये कर्ज था
फ़र्ज़ को क़र्ज़ अपना चुकाना था

हे हे हे हे हे हे हे हे हे
ला ला ला ला ला ला ला

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here